सीरिया में खून खराबा मचाने पर हो रही दुनियाभर में किरिकरी के बाद पुतिन ने तोड़ी चुप्पी

186

सीरिया के पूर्वी घोटा में असद फ़ौज के साथ आतंकवाद के खिलाफ की जा रही कार्रवाई में मारे जा रहे आम लोगो को लेकर रूस की दुनिया भर में तीखी आलोचना हो रही है।

ऐसे में अब रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतीन ने अपने विरोधियों को जवाब देते हुए कहा कि माॅस्को की ओर से सीरिया की मदद आतंकवाद के खिलाफ थी और ना कि रूसी हथियारों के प्रदर्शन के लिए।

पुतीन ने कहा कि जब माॅस्को ने सीरिया की मदद करने का फ़ैसला किया तो उसने यह फ़ैसला अपने हथियारों के प्रदर्शन के लिए नहीं बल्कि आतंकवाद के फैलाव को रोकने के लिए किया था। उन्होंने कहा कि रूस ने अब तक सीरिया के सभी पक्षों के साथ वार्ता में लचक दिखाई है और यह स्पष्ट हो चुका है कि इन वार्ताओं के सभी के लिए सकारात्मक परिणाम निकले हैं।

रूस के राष्ट्रपति ने कहा कि सीरिया में 2000 रूसी आतंकवादी और मध्य एशियाई देशों व उन देशों के 4500 आतंकवादी थे जिनके साथ रूस के प्रवेश व निकास की शैली के बारे में समझौते नहीं हैं।

पुतीन ने अमरीका की राजनैतिक व्यवस्था की आलोचना करते हुए कहा कि इस व्यवस्था की अनुपयोगिता सिद्ध हो चुकी है और इस प्रकार की सरकार के साथ सहयोग बहुत कठिन है क्योंकि वह अचानक ही एेसा काम करती है जिसकी अपेक्षा नहीं की जा सकती।