एर्दोगान भड़के अगर तुर्की को यूरोपियन यूनियन से बहार निकाला गया तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें…

1310

नई दिल्ली: तुर्की के राष्ट्रपति तय्यब एर्दोगान ने रविवार को यूरोपियन यूनियन को धमकी देते हुई कहा है कि अगर यूरोप ने अपनी पॉलिसी और विस्तारण में तुर्की को बाहर निकाला तो ये उसके लिये बड़ी ही संगीन गलती होगी।

बुलगारिया के शहर वारना में होने वाली यरोपियन यूनियन की संयुक्त समिट को सम्बोधित करते हुए एर्दोगान ने कहा कि यूरोप के लिये बड़ी गलती होगी अगर वो अपनी पॉलिसी से तुर्की को बाहर निकाल दे.

और इसका उसको अंजाम भुगतना पड़ेगा। एर्दोगान ने कहा कि आतँकवाद के विरुद्ध उनके सैन्य अभियान से फायदा सिर्फ तुर्की को नही होरहा है बल्कि इसका सीधा सीधा फायदा यूरोप को भी पहुँच रहा है,हमारी तमाम कार्यवाही यूरोप की रक्षा के लिये बहुत ज़रूरी है।

एर्दोगान ने कहा कि आतँकवाद का सफाया करने और शांतिवादी विचारों को आगे बढाने में हमें यूरोप से समर्थन की पूरी पूरी उम्मीद है, इसके अलावा एर्दोगान ने कहा कि यूरोपियन यूनियन के साथ कस्टमर यूनियन को अपडेट करने में सहयोग की पूरी पूरी उम्मीद थी.

ये संयुक्त समिट तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान और बुलगारिया के यूरोपियन यूनियन के कमिश्नर जेन क्लॉड़ जिंकर,तथा यूरोपियन यूनियन के अध्यक्ष डोनाल्ड टॉस्क के नेतृत्व में हुई। बुलगारिया के प्रधानमंत्री बोको बोरोसेफ ने यूरोपियन यूनियन के चेयरमैन होने के नाते इस अधिवेशन की मेज़बानी करी.